Tuesday Puja rules: मंगलवार के दिन भूलकर भी न करें ये कार्य

0
17
Advertisement


इस दिन मंगल की कामना से किए जाने वाले हनुमान जी के पूजा / पाठ….

Tuesday Puja rules: साप्ताहिक दिनों में मंगलवार ज्योतिष के हिसाब से जहां देवताओं के सेनापति यानि देवसेनापति मंगल का दिन माना जाता है, वहीं इसके कारक देव श्री हनुमान जी माने गए हैं। इसके अतिरिक्त मंगल को पराक्रम का कारक भी माना गया है।

वहीं हिंदू धर्म में हनुमान जी को अतुलित बलशाली माना गया है। साथ ही हनुमान जी के संबंध में ये भी माना जाता है कि हनुमान जी का जन्म मंगलवार को ही हुआ था,और वे जगत का मंगल ही करते हैं। कुल मिलाकर इन सभी कारणों के चलते मंगलवार को हनुमान जी का दिन माना जाता है। वहीं ऐसे में इस दिन मंगल की कामना से किए जाने वाले हनुमान जी के पूजा / पाठ को सर्वश्रेष्ठ माना गया है।

ऐसे में हनुमान जी का तकरीबन हर भक्त इस दिन उन्हें प्रसन्न करने के लिए कोई न कोई मंत्र जाप करता है या कोई चालीसा या हनुमानाष्टक का पाठ करता नज़र आता है।

Must Read- हनुमान जी को प्रसन्न करने के 7 आसान उपाय,साथ ही जानें किन स्थितियों में करें बजरंग बली का कौनसा पाठ

परंतु क्या आप जानते हैं कि भगवान शिव की तरह आसानी से प्रसन्न होने वाले हनुमान जी के इस वार के दिन कुछ काम ऐसे भी हैं जो नहीं करने चाहिए। माना जाता है ये काम किए जाने से हनुमान जी नाराज हो जाते हैं…

ऐसे में ये समझ लें कि इस दिन बजरंगबली की पूजा के नियम भी थोड़े सख्त हैं। जिसके चलते यदि कोई जाने-अनजाने चाहे भूल से ही, ऐसे कार्य कर देता है जो इस दिन नहीं करना चाहिए, तो ऐसे में उसके लिए बड़ी मुसीबत होने की संभावना बनी रहती है।

Must Read- त्रेताकालीन शनि देव का एक ऐसा मंदिर जहां के बारे में आज तक कोई ये नहीं जान सका कि आखिर शनि देव यहां आए कैसे?

shani_mandir

मंगलवार को लेकर क्या हैं मान्यताएं, ऐसे समझें…

1.शास्त्रों के अनुसार मंगलवार के दिन न तो दाढ़ी बनवानी चाहिए और न ही इस दिन बाल कटवाने चाहिए। क्योंकि इन सभी कामों को अनैतिक माना गया है। माना जाता है कि इस नियम का पालन न करने से व्यक्ति के जीवन में बाधाएं आती रहती हैं।

2. इसके अलावा हनुमान जी के दिन मंगलवार को कभी भी नुकीली चीजें जैसे-पेन, पेंसिल, चाकू, सुई आदि नहीं खरीदना चाहिए। माना जाता है कि ये चीजें कुंडली में मौजूद मंगल ग्रह को कमजोर बना सकती हैं।

3. लोहे या स्टील के बर्तन भी मंगलवार के दिन नहीं खरीदने चाहिए। क्योंकि इससे मंगल ग्रह का खरीदने वाले पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

4. जानकारों के अनुसार मंगलवार को मांस, मदिरा एवं प्याज, लहसुन का सेवन बिल्कुल न करें। क्योंकि ये सभी तामसिक चीजें हैं और हनुमान जी ब्रम्हचारी हैं। तो उनकी पूजा में ये सब वर्जित हैं।

5. इस दिन नाखून भी नहीं काटने चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से नकारात्मकता को बढ़ावा मिलता है।

Must Read- July 2021 Festival List : जुलाई 2021 में कौन-कौन से हैं तीज त्यौहार? जानें दिन व शुभ समय

6. हनुमान जी की पूजा करने और मंगलवार का व्रत रखने वाले व्यक्ति को मंगल के दिन किसी से कटु शब्द नहीं कहने चाहिए। मान्यता के अनुसार ऐसा करने से बजरंगबली नाराज हो सकते हैं।

7. इस दिन देर तक नहीं सोना चाहिए। माना जाता है कि ऐसा करने से आपकी किस्मत रूठ सकती है। जिसके कारण आपके काम अटक सकते हैं।

8. मंगलवार को काले वस्त्र बिल्कुल न पहनें। इससे आप पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। मंगलवार को मंगल के रंग वाले यानि लाल रंग के कपड़े पहनना अच्छा माना जाता है।

9. मंगलवार के दिन किसी भी गाय को न मारें। वहीं माना जाता है कि इस दिन लाल गाय को रोटी खिलाने से पुण्य मिलता है। जबकि गौ माता का अपमान करने से व्यक्ति को मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है।

Must Read- मंगल ने दिखाना शुरु किया अपना असर, 20 जुलाई 2021 तक कर सकते हैं बड़ा फेरबदल

mars_effect_0n_india

10. कभी भी मंगलवार के दिन किसी की बुराई न करें। ऐसा करने से हनुमान जी नाराज हो सकते हैं।

11. मंगलवार के दिन सौन्दर्य प्रसाधन नहीं खरीदने चाहिए, माना जाता है कि ऐसा करने से वैवाहिक संबंधों में दरार आ जाती है। वहीं सौन्दर्य प्रसाधन खरीदने के लिए सबसे उपयुक्त दिन शुक्रवार को माना जाता है।

12. इस दिन दूध से बनी मिठाइयां जैसे बर्फी, रबड़ी और कलाकंद नहीं खरीदनी चाहिए। दरअसल दूध को चंद्रमा का कारक माना गया है। वहीं माना जाता है कि चंद्रमा और मंगल एक दूसरे के धुर विरोधी हैं, इसलिए मंगल के दिन दूध से बनी चीजों का प्रयोग नहीं करना चाहिए और इन्‍हें दान भी नहीं करना चाहिए।

13. पैसे का लेन-देन के लिए भी मंगलवार के दिन उचित नहीं माना जाता है। मान्यता है कि ऐसा करने से धन की हानि होती है।













Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here