September 2021 Festival calendar – सितंबर 2021 के पर्व, व्रत व त्यौहार की लिस्ट

0
12
Advertisement


September 2021 – भाद्रप्रद माह में भगवान विष्णु की दो एकादशी, भगवान शिव के दो प्रदोष और मासिक शिवरात्रि वहीं प्रथम पूज्य श्री गणेश का गणेशोत्सव पर्व भी है

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर के संकेतों के बीच चतुर्मास के चार माहों में से एक भाद्रप्रद माह 23 अगस्त से शुरु हो चुका है वहीं अंग्रेज कैलेंडर का आठवां महीना सितंबर (01 सितंबर) बुधवार से शुरु होने जा रहा है। इसके साथ ही सितंबर 2021 का पर्व व त्यौहार कैलेंडर भी सामने आ गया है। वहीं माह यह माह हिंदू कैलेंडर का छठा माह है।

दरअसल 23 अगस्त 2021, सोमवार से शुरु हुए भाद्रप्रद मास की 01 सितंबर को दशमी तिथि रहेगी। हिंदू कैलेंडर में धार्मिक दृष्टि से भाद्रप्रद मास को काफी खास माह माना जाता है। वहीं 20 सितंबर तक भाद्रप्रद रहने के बाद 21 सितंबर से हिंदू कैलेंडर का 7वां माह आश्विन प्रारंभ हो जाएगा।

पंडित एसके पांडे के अनुसार भाद्रप्रद व आश्विन माह के व्रत और पर्वों का विशेष महत्व बताया गया है। भाद्रप्रद में पड़ने वाली दोनों एकादशी एकादशी तिथियों का महत्व अत्यंत खास माना गया है। तो वहीं आश्विन माह पितरों के तर्पण के लिए विशेष माना जाता है।

सनातन धर्म में भाद्रप्रद व आश्विन मास कई मायनों में अति खास माने गए हैं, ऐसे में जहां करीब पिछले डेढ़ साल से लोग त्यौहारों को धूमधाम से नहीं मना पा रहे थे, वहीं अभी अनलॉक की प्रक्रिया शुरु ही हुई थी कि एक बार फिर कोरोना की तीसरी लहर का खतरा सामने आता दिख रहा है, जिसके चलते लोगों के चेहरों पर चिंता की लकीरें दिखनी शुरु हो गई हैं।

सितंबर 2021 में त्यौहारों पर्वों व व्रतों की लिस्ट : पंडित सुनील शर्मा के अनुसार सितंबर 2021 में अजा एकादशी, प्रदोष व्रत Pradosh Vrat, हरतालिका तीज, गणेश चतुर्थी, ऋषि पंचमी,परिवर्तिनी एकादशी व अनंत चतुर्दशी सहित कई त्यौहार आएंगे। वहीं आश्विन मास पितरों के तर्पण व श्राद्धों के लिए खास रहेगा। जो 20 सितंबर से शुरु होकर 06 अक्टूबर तक चलेंगे।

Must read- Ekadashi Vrat 2021 : साल 2021 में एकादशी व्रत की लिस्ट

Ekadashi Vrat

IMAGE CREDIT: patrika

सितंबर के त्यौहारों, पर्वों व व्रतों की लिस्ट











सितंबर 2021 : त्यौहार
03 सितंबर, शुक्रवार: अजा एकादशी
04 सितंबर, शनिवार: प्रदोष व्रत (कृष्ण)
05 सितंबर, रविवार: मासिक शिवरात्रि
07 सितंबर, मंगलवार: भाद्रपद अमावस्या
09 सितंबर, गुरुवार: हरतालिका तीज
10 सितंबर, शुक्रवार: गणेश चतुर्थी
11 सितंबर, शुक्रवार: ऋषि पंचमी
17 सितंबर, शुक्रवार: परिवर्तिनी एकादशी , कन्या संक्रांति
18 सितंबर, शनिवार: प्रदोष व्रत (शुक्ल)




19 सितंबर, रविवार: अनंत चतुर्दशी
20 सितंबर, सोमवार: भाद्रपद पूर्णिमा व्रत
24 सितंबर, शुक्रवार: संकष्टी चतुर्थी

03 सितंबर, शुक्रवार : अजा एकादशी
भाद्रपद में कृष्ण पक्ष की एकादशी को अजा एकादशी या जया एकादशी कहा जाता है। इस बार 2021 में यह शुक्रवार 3 सितंबर को पड़ेंगी। साल में पड़ने वाली हर एकादशी भगवान विष्णु को समर्पित होती है। अजा एकादशी तिथि की शुरुआत बृहस्पतिवार, 02 सितंबर 2021 को 6:21 AM से होगी जो शुक्रवार, 03 सितंबर 2021 को 7:44 AM तक रहेगी।

Must Read- Shiv Pradosh Vrat 2021: 04 सितंबर को भाद्रपद का पहला प्रदोष

pradosh vrat

07 सितंबर, मंगलवार : भाद्रपद अमावस्या
भाद्रपद अमावस्या का दूसरा नाम पिठौरी अमावस्या भी है। साल 2021 में यह अमावस्या सोमवार, 7 सितंबर 2021 को मनाई जाएगी। इस दिन पितृ तर्पण आदि धार्मिक कार्यों में कुश का प्रयोग किया जाता है, इस कारण इसे कुशाग्रहणी अमावस्या भी कहा जाता है।

इस अमावस्या पर पितरों का तर्पण करने से पितृ दोष से होने वाली परेशानियों से मुक्ति के साथ ही संतान उत्पत्ति, कार्यक्षेत्र में रुकावटें और व्यापार, नौकरी आदि में उन्नति नहीं पाने की समस्याओं से निजात पाने के लिए यह दिन उत्तम माना जाता है।

अमावस्या तिथि आरंभ: 06 सितंबर 2021 को 07:38 AM से
अमावस्या तिथि समाप्त: 07 सितंबर 2021 को 06:21 AM पर समाप्त होगी।

09 सितंबर, गुरुवार : हरतालिका तीज
इस बार गुरुवार,9 सितंबर 2021 को हरतालिका तीज का व्रत रखा जाएगा। हरतालिका तीज हर साल भाद्रप्रद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है। इस दिन सुहागिनें अपनी पति की लंबी आयु और सुख-समृद्धि के लिए निर्जला व्रत रखती हैं।

Must Read- Ganesh Utsav: अपनी कामना के अनुसार करें गणेश-प्रतिमा का पूजन

भाद्रप्रद मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि 09 सितंबर को सुबह 02:33 से शुरू होकर 10 सितंबर को दोपहर 12.18 बजे तक रहेगी। सुबह के समय शुभ मुहूर्त सुबह 06.03 बजे से 08.33 बजे तक का है। जबकि, प्रदोष काल पूजा का शुभ मुहूर्त शाम 6.33 बजे से 8.51 बजे तक है।

10 सितंबर, शुक्रवार : गणेश चतुर्थी
हिंदू पंचाग के अनुसार साल 2021 में गणेश चतुर्थी शुक्रवार, 10 सितंबर 2021, शुक्रवार को मनाई जाएगी। 10 दिन चलने वाले इस पर्व को देशभर में बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस पर्व के दौरान लोग अपने घर में गणेश जी की मूर्ति स्थापित करते हैं और फिर अन्नत चतुर्दशी के दिन गणेश विसर्जन किया जाता है.

शुक्रवार, 10 सितंबर को गणेश चतुर्थी का शुभ मुहूर्त 12:17 बजे शुरू होकर और रात 10 बजे तक रहेगा।

11 सितंबर, शुक्रवार : ऋषि पंचमी
भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को ऋषि पंचमी पर्व मनाया जाता है। मान्यता के अनुसार ऋषि पंचमी का व्रत हर किसी के लिए फलदायक होता है। इस दिन ऋषियों का पूर्ण विधि-विधान से पूजन करने व उनकी कथा श्रवण करने का बहुत खास महत्व माना जाता है।

Must Read- आदि पंचदेव: पूजा में इन बातों का रखें खास ध्यान

how to worship of god

aadi panchdev IMAGE CREDIT:

साल 2021 में भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि का प्रारंभ शुक्रवार,10 सितंबर 2021 को शाम 09:57 से होगा वहीं इस तिथि कर समाप्ति शनिवार,11 सितंबर 2021, शाम 07:37 को होगी।

17 सितंबर, शुक्रवार : परिवर्तिनी एकादशी , कन्या संक्रांति
भाद्रप्रद शुक्ल पक्ष की एकादशी यानि परिवर्तिनी एकादशी साल 2021 में शुक्रवार 17 सिंतबर की पड़ रही है। सभी एकादशी व्रत भगवान विष्णु को समर्पित होते हैं। इसके अलावा इसी दिन सूर्य देव कन्या राशि में प्रवेश करेंगे, जिस कारण इस दिन कन्या संक्रांति भी होगी।

साल 2021 में आने वाली भाद्रप्रद शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि का शुभारंभ गुरुवार,16 सितंबर सुबह 9:36 से शुरू होकर इस तिथि की समाप्ति 17 सितंबर को सुबह 8:08 बजे होगी।

19 सितंबर, रविवार : अनंत चतुर्दशी
साल 2021 में अनंत चतुर्दशी का पर्व रविवार, 19 सितंबर को मनाया जाएगा। हिंदू पंचांग के अनुसार अंनत चतुर्दशी का व्रत भाद्रप्रद मास की शुक्‍ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को किया जाता है। वहीं इस दिन को अनंत चौदस भी कहा जाता है।

धार्मिक मान्यता के अनुसार इस दिन अनंत सूत्र को बांधने और व्रत रखने से कई तरह की बाधाओं से मुक्ति मिलती है। अनंत चतुर्दशी का दिन का भगवान विष्‍णु का समर्पित है।

इस बार भाद्रप्रद मास की शुक्‍ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि 19 सितंबर 2021 को 05:28 AM शुरू होगी जोकि अगले दिन यानी 20 सितंबर 2021 को 05:24 AM तक रहेगी।















Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here