क्या आप जानते हैं? गाय से जुड़े हैरान कर देने वाले ये रोचक तथ्य और शुभ बातें

0
18
Advertisement


शास्त्रों में गाय की विशेष महिमा…

सनातन धर्म में गाय को माता Gau Mata का स्थान देते हुए पवित्र और पूजनीय माना गया है। गाय बेहद शांत और सौम्य पशु cow है। प्राचीन काल से यह भारत की अर्थव्यवस्था indian economy की रीढ़ रही है। प्रचीन समय में युद्ध के दौरान स्वर्ण, आभूषणों के साथ गायों को भी लूट लिया जाता था। जिस राज्य में जितनी गायें होती थीं उसको उतना ही सम्पन्न माना जाता है।

यहां तक कि ज्योतिष के कई शास्त्रों में गाय की विशेष Cow Is Our Mother महिमा बताई गई है। साथ ही ज्योतिष में गोधू‍लि का समय विवाह के लिए सर्वोत्तम माना गया है। वहीं गाय में सभी देवताओं का वास भी माना गया है।

चाहे गाय के दूध Cow Essay For Kids का मामला हो या फिर खेती के काम में आने वाले बैलों का। वैदिक काल में गायों की संख्‍या व्यक्ति की समृद्धि का मानक हुआ करती थी।

Must Read- ये संकेत हैं बेहद खास, ऐसे पहचानें

ऐसे में आज हम आपको गाय से जुड़े कुछ चौंकाने वाले तथ्यों के बारे में बता रहे हैं।

: गाय के दूध cow milk में 7 एमीनोएसिड के प्रोटीन पाए जाते हैं, जिससे हड्डियों का रोग नहीं होता है।
: सनातन धर्म में गाय को मां तुल्य कहा जाता है इसी कारण इतिहास के ऐसे बहुत सारे राजा हैं जिन्होंने अपने कार्यकाल में गौ-वध पर पाबंदी लगाकर हिंदुओं का दिल जीता था।
: महाराजा रणजीत सिंह ने अपने शासनकाल में गौहत्या पर मृत्युदंड का कानून बनाया था।
: गाय का दूध अमृत के समान इसलिए भी माना जाता है कि जिन नवजात बच्चों की मां दूध नहीं पिला पाती हैं उन्हें गाय का दूध पिलाया जाता है।
: गाय का दूध, मूत्र, गोबर के अलावा दूध से निकला घी, दही, छाछ, मक्खन सभी पौष्टिक होता है।

Must Read- इस दिन ग्वाला बने थे भगवान श्रीकृष्ण, शुरू किया था गाय चराने का काम

gopashtami.jpg

: गोमूत्र (गाय का मूत्र) पंचगव्यों में से एक है। कुछ आधुनिक शोधों में इसके अत्यन्त गुणकारी औषधीय गुण बताये जाते हैं।
: गाय का घी और गोमूत्र अनेक आयुर्वेदिक औषधियां बनाने के काम भी काम आता है।
: गाय के पास एक ही पेट होता है लेकिन उसमें चार तरह से डाइजेस्टिव कंपार्टमेंट होता है।
: गाय 8 घंटे सोती है।
: गाय उल्टी नहीं कर सकती।
: भारत में गाय की 30 नस्लें पाई जाती हैं जो रेड सिन्धी, साहिवाल, गिर, देवनी, थारपारकर आदि नस्लें भारत में दुधारू गायों की प्रमुख नस्लें हैं।
: गाय कई रंगों जैसे सफेद, काला, लाल, बादामी तथा चितकबरी होती है।
: गाय का दिल एक मिनट में 60 से 70 बार धड़कता है।
: एक दिन में गाय करीब 14 बार बैठती है और उठती है।
: गाय के पास सूंघने की खासियत होती है।

Must Read- इस छोटे से संवाद से समझिए गाय में ये विशेष गुण क्यों है?

krishna

: लाल रंग की गाय के दूध के सेवन से शरीर उर्जावान होता है तो काले रंग की गाय का दूध पेट की गैस संबंधी बीमारियों से बचाता है।
: गाय को लाल और हरे रंग का अंतर नहीं आता है।
: गाय आमतौर पर 30-40 गैलन पानी पी जाती है।
: गाय के सुनने की शक्ति मानवों से अच्छी होती है।
: आमतौर पर गाय का वजन 1,200 पौंड होता है।
: गाय का नार्मल तापमान 101.5°F होता है।
: गाय करीब 40,000 बार जुगाली करती है, वो दांतों से घास को नहीं खाती है।
: कुछ समय पहले ही हुए शोध में यह बात सामने आई है कि भारतीय गाय के दूध में मिलने वाले प्रोट्रीन से हृदय घात, डायबिटीज और मानसिक रोग को ठीक करने में अहम होता है।
: नई रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि भारतीय नस्ल की गाय में सन ग्लैंडस होती है जो उसके दूध को पौष्टिक्ता के साथ औषधि में बदल देती है।





Source link

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here